बिहार विधानसभा चुनाव के लिए विपक्षी महागठबंधन में सीटों के बंटवारे का पेंच फंसता हुआ दिखायी पड़ रहा है। कांग्रेस सीटों बंटवारे के फार्मूले को लेकर असंतुष्ट नजर आ रही है।
महागठबंधन में सीट बंटवारे का फार्मूला तैयार, पर कांग्रेस लेकर फंसा पेंच!

Patna. बिहार विधानसभा चुनाव के लिए विपक्षी महागठबंधन में सीटों के बंटवारे का पेंच फंसता हुआ दिखायी पड़ रहा है। कांग्रेस सीटों बंटवारे के फार्मूले को लेकर असंतुष्ट नजर आ रही है। वहीं, सीटों को लेकर सहमति नहीं बनी तो कांग्रेस बिहार की सभी सीटों पर अकेले ही चुनाव लड़ेगी। फिलहाल इस मुद्दे पर अंतिम फैसला कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के हाथों में है। 

सूत्रों की माने तो महागठबंधन के सबसे बड़े घटक आरजेडी ने कांग्रेस को 65 सीटों पर चुनाव लड़ने का प्रस्‍ताव दिया है, जिसपर वह राजी नहीं है। डैमेज कंट्रोल के प्रयास जारी हैं। वहीं, कांग्रेस स्‍क्रीनिंग कमेटी की बैठक के बाद कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडेय 243 सीटों के लिए प्रत्‍याशियों के नाम लेकर दिल्‍ली लौट गए हैं। अब इस पर अंतिम फैसला सोनिया गांधी लेंगी। अगर सीटों को लेकर सहमति नहीं बनती है तो कांग्रेस अकेले ही चुनाव लड़ेगी। 

महागठबंधन में सीटों का बंटवारा

बताया जा रहा है कि विपक्षी महागठबंधन में सीट बंटवारे के प्रस्‍तावित फार्मूले में आरजेडी ने कांग्रेस को 65 सीटों का ऑफर दिया है और आरजेडी ने 155 सीटों पर दावा ठोका है। वहीं, आरजेडी अपने कोटे से वीआईपी और जेएमएम को सीटें देगा, जबकि कांग्रेस को एनसीपी को अपने कोटे में से सीटें देनी होंगी। इसके अलावा भाकपा माले को 14, सीपीआइ को तीन और सीपीएम को दो सीट देने का ऑफर दिया गया है। हालांकि, कांग्रेस इस फार्मूले को लेकर नाखुश नजर आ रही है। कांग्रेस कम से कम 70 सीटें चाहती है।

पूरी स्टोरी पढ़िए