अमेरिकी राष्ट्रपति (US President) डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने भारत-चीन विवाद में मध्यस्थता की पेशकश की है। ट्रंप ने कहा कि अमेरिका, भारत-चीन सीमा विवाद को सुलझाने में मदद करने के लिए तैयार है।
भारत-चीन विवाद : डोनाल्ड ट्रंप बोले- हालात बेहद गंभीर, हम मदद को तैयार

New Delhi. पिछले दिनों पूर्वी लद्दाख में चीन के सैनिकों (Chinese Soldiers) ने घुसपैठ की कोशिश की थी। लेकिन भारतीय सेना (Indian Army) ने घुसपैठ को नाकाम करते हुए चीन के कब्जे वाले कई इलाकों पर कब्जा कर लिया। जिसके बाद दोनों देशों के बीच सीमा विवाद (Border Dispute) फिर से गहराने लगा है। इसी बीच अमेरिकी राष्ट्रपति (US President) डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने भारत-चीन विवाद में मध्यस्थता की पेशकश की है। ट्रंप ने कहा कि अमेरिका, भारत-चीन सीमा विवाद को सुलझाने में मदद करने के लिए तैयार है।

 अमेरिकी राष्ट्रपति (US President) डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि भारत-चीन सीमा (India-China Border) पर तनाव बहुत बढ़ गया है। दोनों देशों के बीच हालात बेहद खराब हो गए हैं। वह भारत और चीन विवाद में शामिल होना चाहते हैं और इस समस्या को सुलझाने में मदद करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि वह इस विवाद में कुछ कर पाए तो वह मदद करना पसंद करेंगे। विवाद के मुद्दे पर वह दोनों देशों से बात भी कर रहे हैं।

वहीं, चीन की ओर से भारत को धमकाये जाने पर ट्रंप ने कहा कि वह उम्मीद करते हैं यह मामला न हो लेकिन चीन निश्चित तौर से इस दिशा में बढ़ रहा है। चीन इस दिशा में बहुत मजबूती से आगे बढ़ रहा है और इस बात को बहुत से लोग समझ रहे हैं।

इससे पहले गुरुवार को दो दिन के लद्दाख दौरे पर पहुंचे भारत के थल सेनाध्यक्ष एमएम नरवणे (Army Chief MM Naravane) ने कहा कि एलएसी (LAC) पर हालात बेहद तनावपूर्ण हैं। यहां पर स्थिति बहुत नाजुक बनी हुई है। सुरक्षा के लिए जो जरूरी कदम उठाए जाने थे वह उठाए गए हैं। हमारे सैनिक उत्साह में हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वे एलएसी (LAC) पर यथास्थिति बरकरार रखेंगे। चीन से सैन्य और कूटनीतिक दोनों तरीकों से बातचीत जारी है। इस समस्या को बातचीत के जरिए हल किया जा सकता है।

पूरी स्टोरी पढ़िए