उमंग ऐप पर सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए करार, 140 विभागों की ई-गवर्नेंस सेवाओं की जानकारी दी जाएगी
उमंग ऐप पर सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए करार

-- शिव प्रसाद सिंह 

डिजिटल इंडिया की ‘पावर टू एम्पॉवर’ परिकल्पना को साकार करने और पूरे भारत में डिजिटल समावेश के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिविजन (एनईजीडी) और सीएससी(कॉमन सर्विस सेंटर) ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड के बीच एक महत्वपूर्ण करार हुआ है। इसके तहत  3.75 लाख सीएससीएस के नेटवर्क के माध्यम से नागरिकों को उमंग ऐप पर सेवाऐं उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए 26 अगस्त, 2020 को एक समझौते हस्ताक्षर किए गए।

सीएससी ऑपरेटर्स, ग्रामीण स्तर के उद्यमी (वीएलई) उमंग ऐप के माध्यम से नागरिकों को 140 विभागों की ई-गवर्नेंस सेवाओं का लाभ उठाने के लिए सक्षम बनाएंगे। इससे उन लोगों को लाभ मिलेगा जिनके पास या तो स्मार्टफोन नहीं है या वह स्वयं ऐप आधारित ई-सेवाओं तक पहुंचने में समर्थ नहीं हैं। यह न केवल सरकारी सेवाओं तक जनता की पहुंच बढ़ाएगा, बल्कि वीएलई द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं में विस्तार भी करेगा। इससे उनकी आय और व्यवहार्यता में वृद्धि होगी। इन सभी उमंग सेवाओं को सीएससी पर बिना किसी अतिरिक्त लागत के सक्षम बनाया जा रहा है और एनईजीडी सीएससी को शून्य लागत पर सभी सेवाएँ उपलब्ध करा रहा है।

पूरी स्टोरी पढ़िए