जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में सुरक्षा बलों (defence forces) की आतंकवादियों (terrorist) के साथ मुठभेड़ की खबरें रोज आती रहती हैं।
घाटी में सेना का पराक्रम, मासूम सहित 12 लोगों को आतंकियों के चंगुल से सकुशल छुड़ाया, तीनों आतंकी ढेर

जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में सुरक्षा बलों (defence forces) की आतंकवादियों (terrorist) के साथ मुठभेड़ की खबरें रोज आती रहती हैं। हाल के कुछ दिनों में घाटी में आतंकवादी गतिविधियां काफी तेज हुई हैं, जिसका सुरक्षा बल मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं। इस साल घाटी में अब तक 163 से ज्यादा आतंकवादी मारे जा चुके हैं। 

सुरक्षाबलों के लिए घाटी में दोहरी चुनौती का सामना करना पड़ता है। आतंकियों के खात्मे के साथ वहां के सिविलियन को बचाना सबसे बड़ी जिम्मेदारी है, जिसका सहारा लेकर आतंकवादी वारदात को अंजाम देते हैं। इसी बीच शुक्रवार को उत्तरी कश्मीर (North Kashmir) के बारामूला में सुरक्षाबलों ने मासूम बच्चे सहित 12 लोगों को आतंकवादियों के चंगुल से छुड़ाया है। उसके बाद सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में तीनों आतंकवादियों को ढेर कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, सुरक्षाबलों को गुरुवार देर रात बारामूला के पट्टन इलाके के येदिपोरा में आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना मिली। इसके बाद सेना, सीआरपीएफ और एसओजी ने  पट्टन और बारामूला में घेराबंदी करके तलाशी अभियान शुरू कर दिया था। जिसके बाद शुक्रवार सुबह आतंकवादी खुद को घिरता देख एक मकान से सुरक्षा बलों पर फायरिंग शुरू कर दी।

सुरक्षाबलों ने जवाबी फायरिंग के साथ आतंकवादियों को सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन आतंकियों ने मकान के 12 लोगों को बंधक बना लिया। इसके बाद जवाबी फायरिंग में तीनों आतंकवादी मारे गए और सभी 12 नागरिकों को सुरक्षित छुड़ा लिया गया। हथियार सहित सभी आतंकवादियों के शव को बरामद कर लिया गया है। इस ऑपरेशन में सेना के एक मेजर और दो पुलिसकर्मी जख्मी हो गए, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पुलिस ने बताया कि एनकाउंटर में मारे गए तीनों आतंकवादियों की फिलहाल पहचान नहीं हो पाई है, लेकिन इस एनकाउंटर में मारे गए दो आतंकवादी पुराने बारामूला इलाके के हनान बिलाल सोफी और शफात अहमद थे।

पूरी स्टोरी पढ़िए