प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (pm Narendra Modi) ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भारत-अमेरिका (India merica relation) संबंधों पर आयोजित तीसरे शिखर सम्मेलन को संबोधित किया।
यूएस-इंडिया फोरम में पीएम मोदी बोले, मैन्युफैक्चरिंग हब की दिशा में काम कर रहा भारत

New Delhi. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (pm Narendra Modi) ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भारत-अमेरिका (India merica relation) संबंधों पर आयोजित तीसरे शिखर सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि 2020 शुरू हुआ, तब किसी ने नहीं सोचा था कि कोरोना महामारी (covid-19 Pandemic) आएगी। 

इस वैश्विक महामारी (Pandemic) ने हर किसी को प्रभावित किया ह, लेकिन यह महामारी भारत के लोगों की आकांक्षाओं को प्रभावित नहीं कर पाई है। उन्होंने कहा कि 130 करोड़ भारतीय (Indian) आत्मनिर्भर भारत अभियान की दिशा में काम कर रहे हैं। आने वाले दिनों में भारत मैन्युफैक्चरिंग हब के रूप में उभरेगा। 

कोरोना महामारी से दुनिया भर के अन्य देशों की अपेक्षा भारत में सबसे कम मौतें हुई हैं। भारत में इस महामारी से ठीक होने वाले की संख्या तेजी के साथ बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन (Lock down) पीरियड में भारत ने तेजी के साथ हेल्थ सेक्टर (health sector) में काम करके अपनी तैयारियों को दुरुस्त किया है। कोविड—19 (covid-19) अस्पताल से लेकर बेड और वेंटिलेटर का इंतजाम पर्याप्त मात्रा में किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारत पिछले कुछ महीनों में कोरोना के साथ-साथ दो-दो चक्रवात बाढ़ और टिड्डियों का हमला झेला है। 

पीएम मोदी (PM Modi) ने यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम ( USISPF) में कहा कि जनवरी में हमारे पास सिर्फ एक कोरोना टेस्टिंग लैब थी, लेकिन आज देशभर में 1600 टेस्टिंग लैब्स हैं। आज हम दुनिया के दूसरे सबसे बड़े पीपीई किट निर्माता हैं। उन्होंने कहा कि आज भारत में 80 करोड़ लोगों को फ्री में अनाज दिया जा रहा है और आठ करोड़ परिवारों को भोजन पकाने के लिए फ्री गैस दिया जा रहा है।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि भारत विश्व के सबसे बड़े हाउसिंग प्रोग्राम पर काम कर रहा है। इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में काफी ग्रोथ हुई है। सड़क, रेल, हवाई संपर्क बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि टैक्स सिस्टम को पारदर्शी करके डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पब्लिक एवं प्राइवेट सेक्टर में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए भारत को मैन्युफैक्चरिंग हवा बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है, जिसमें सोशल और इकोनॉमिक सेक्टर भी शामिल है। बता दें कि यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम (USISP) एक गैर-लाभकारी संगठन है, जो भारत और अमेरिका के साझा महत्व पर काम करता है।

पूरी स्टोरी पढ़िए