प्रदेश में 'लव जिहाद' के बढ़ते मामलों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अख्त्यिार कर लिया है। उन्होंने ऐसे मामलों को रोकने के लिए गृहविभाग और पुलिस को सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।
'लव जिहाद' को लेकर योगी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, कही ये बड़ी बात

प्रदेश में 'लव जिहाद' के बढ़ते मामलों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अख्त्यिार कर लिया है। उन्होंने ऐसे मामलों को रोकने के लिए गृहविभाग और पुलिस को सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि लड़कियों को धोखे में रखकर और उन्हें प्रताड़ित करने के मामले जहां आएं, वहां पुलिस फौरन कार्रवाई करें।

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लव जिहाद की घटनाओं को रोकने के लिए तत्काल प्रभाव से कार्ययोजना बनाई जाए, जिससे आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। उन्होंने कहा कि साम्प्रदायिक महौल को बिगड़ने से रोकने और महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कड़ी कार्रवाई की जाए, जिससे ​धर्म की आड़ में महिलाओं के साथ अत्याचार न हो सके। सीएम योगी ने कहा कि युवतियों को धोखे में रखने और अत्याचार करने के मामले जहां भी सामने आए, पुलिस ऐसे में मामलों में त्वरित कार्रवाई करे।

मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने कहा कि प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों से लव जिहाद के मामले सामने आ रहे हैं। इन मामलों को देखते हुए सीएम ने गृह विभाग के अफसरों को ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए एक योजना तैयार करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि ऐसी रणनीति तय की जाए, जिससे ये भी पता चले कि नए कानून बनाने की जरूरत है या नहीं।

वहीं, अपर मुख्य सचिव, गृह, अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि लव जिहाद एक सामाजिक मुद्दा है, इसे रोकने के लिए ऐसे मामलों को गम्भीरता से लेना होगा। उन्होंने कहा कि इन मामलों के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि लव जिहाद से जुड़े मामलों की सुनवाई फास्टट्रैक कोर्ट में संभव है, क्योंकि तमाम मामले अभी कोर्ट में लंबित हैं। अवनीश अवस्थी ने कहा कि लव जिहाद के मामलों में आरोपियों को जमानत नहीं होनी चाहिए।

बता दें कि प्रदेश के कानपुर में हाल ही में लव जिहाद के पांच मामले सामने आए हैं, जिसे लेकर विरोध प्रदर्शन भी हुए हैं। वहीं, लखीमपुर और मेरठ में लड़कियों की हत्या के भी मामले सामने आए हैं, जिन्हें भी लव जिहाद से जोड़कर देखा जा रहा है। इसके अलावा मेरठ में ही कई और मामले सामने आए हैं, जिन्हें भी लव जिहाद से जोड़ा जा रहा है।

पूरी स्टोरी पढ़िए