बदलते मौसम में संक्रामक बीमारियां (Infectious diseases) अक्सर लोगों को चपेट में ले लेती हैं। ऐसे में आज के समय में लोगों को कोरोना महामारी (Corona virus) और बदलते मौसम से खुद को सुरक्षित रखने में दोहरी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है।
इम्युनिटी की कमी से महिलाओं में थायरॉयड का खतरा बढ़ा, जानें इसके लक्षण व बचाव

New Delhi. बदलते मौसम में संक्रामक बीमारियां (Infectious diseases) अक्सर लोगों को चपेट में ले लेती हैं। ऐसे में आज के समय में लोगों को कोरोना महामारी (Corona virus) और बदलते मौसम से खुद को सुरक्षित रखने में दोहरी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। इसमें जो लोग पहले से ही किसी बीमारी से पीड़ित हैं, उन्हें तो अपने स्वास्थ्य (Helth) के प्रति और भी अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। कोरोना महामारी जब से आई तब से एक  शब्द सबसे अधिक चर्चा में रहा है वो है इम्युनिटी (Immunity) यानी रोग प्रतिरोधक प्रणाली। 

विशेषज्ञों के मुताबिक, कमजोर इम्युनिटी वाले लोगों को इस वायरस की चपेट में आने का खतरा अधिक है। बता दें कि कमजोर इम्युनिटी (Weak immunity) वाले लोगों का केवल कोरोना वायरस से ही नहीं बल्कि कई अन्य बीमारियों की चपेट में भी आने का खतरा रहता है। इन्हीं में से एक बीमारी है थायरॉयड (Thyroid), जो आज के ज्यादातर युवाओं में देखी जा रही है। बता दें कि इस बीमारी को 'साइलेंट किलर' (Silent Killer) के नाम से भी जाना जाता है। क्योंकि इस बीमारी के लक्षण धीरे-धारे सामने आते हैं। 

क्या होता है थायरॉयड

बता दें कि गर्दन में स्थित एक विशेष प्रकार की ग्रंथि को थायरॉयड (Thyroid) कहा जाता है। यह थायरोक्सिन (Thyroxine) नामक हार्मोन का स्राबित करती है, जो शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बहुत जरूरी मानी जाती है। इसके अनियमित होने पर हाइपो (Hypo Thyroid) व हाइपर थायरॉयड (Hyper Thyroid) की समस्या उत्पन्न होनी शुरू हो जाती है। 

हाइपो थायरॉयड में थायरॉक्सिन का उत्पादन कम हो जाता है, जिसकी वज़ह से शरीर में ऊर्जा की कमी होने लगती है। वहीं दूसरी ओर हाइपर थायरॉयड में शरीर में हार्मोन की मात्रा बढ़ जाती है, जिस कारण से ऑस्टियोपोरोसिस और फ्रैक्चर का खतरा भी बढ़ जाता है।

थायरॉयड होने की वजह और लक्षण

शरीर (Body) में इम्युनिटी कमजोर होने की वजह विटामिन डी की कमी, आयोडीन की कमी, सेलेनियम की कमी, स्ट्रेस, धूम्रपान, हार्मोनल इंबैलेंस, जेनेटिकल, विटामिन ए की कमी, टॉक्सिस एसिड का बढ़ना, मोटापा और गलत खानपान, बढ़ती उम्र जैसे कई कारण हैं। 

थायरॉयड से पीड़ित महिलाओं को बार-बार भूख लगने की शिकायत आती है। ज्यादा थकान, ज्यादा पसीना, नींद की कमी, वजन बढ़ना-घटना, बालों का गिरना, कब्ज, सुस्ती, स्ट्रेस, स्किन का ड्राइ होना, इसके अलावा वह बदलते मौसम में भी अक्सर बीमार पड़ने लगते हैं। 

थायरॉयड से बचाव के उपाय

थायरॉयड ग्रंथि अच्छे से काम करे, इसके लिए शरीर में आयोडीन और सेलेनियम की पूर्ति होना आवश्यक है। इसके लिए खाने में मशरूम, चिया सीड्स, सी फूड का प्रयोग करें। 

वजन को नियंत्रित रखें, इसके लिए सुबह की धूप और व्यायाम के साथ विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में ले। मेटाबॉलिज्म बेहतर करने के लिए खाने में खाद्य पदार्थ का इस्तेमाल करें।

पूरी स्टोरी पढ़िए