त्तर प्रदेश के कानपुर में संजीत अपहरण और हत्याकांड के मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पुलिस ने सर्च ऑपरेशन के दौरान दो क्षतिग्रस्त मोबाइल अलग-अलग स्थानों से बरामद किए हैं।
संजीत हत्याकांड में फिर दो कदम चली खाकी, दो मोबाइल फोन लगे हाथ

Lucknow. उत्तर प्रदेश के कानपुर में संजीत अपहरण और हत्याकांड (Sanjeet Murder Case) के मामले में पुलिस (Police) को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पुलिस (Police) ने सर्च ऑपरेशन के दौरान दो क्षतिग्रस्त मोबाइल अलग-अलग स्थानों से बरामद किए हैं। दावा है कि इनमें से एक मोबाइल जो रामजी के घर के पास से बरामद हुआ वह संजीत का है, जबकि नाले से बरामद दूसरे मोबाइल से फिरौती मांगी गई थी। हालांकि पुलिस दोनों मोबाइल को लेकर अभी जांच कर रही है।

संजीत अपहरणकांड (Sanjeet Case) में बुधवार को एसपी साउथ दीपक भूकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इससे पहले एसपी (SP) ने नए सिरे से छानबीन शुरू कराई है। शव के अलावा संजीत व वारदात से जुड़ा कोई पुख्ता सबूत पुलिस (Police) अब तक तलाश नहीं कर पाई है। इनकी तलाश के लिए एसपी साउथ ने दो टीमों का गठन किया था। पुलिस (Police) को तलाश तीन मोबाइल फोन की थी। इनमें से एक मोबाइल संजीत का है, दूसरे से फिरौती मांगी गई थी और तीसरा मोबाइल वह है जिसे फिरौती वाले बैग में डाला गया था। रिमांड के दौरान आरोपितों ने बताया था कि उन्होंने फिराैती मांगने के बाद पतरसा पुलिया के पास नाले में फेंक दिया था। 

सोमवार को नोडल अधिकारी एसपी साउथ (SP South) की अगुवाई में गठित टीम जेसीबी मशीन, पानी निकालने के लिए इंजन, डॉग स्क्वाड, मेटल डिटेक्टर टीम के साथ पतरसा पुलिया पहुंची। जहां टीम ने जेसीबी से खोदाई कर पहले बंधा तैयार कर नाले का पानी रोका। इसके बाद सफाई कर्मियों को नाले के किनारे झाड़ियों में मोबाइल की तलाश कराई। इंजन से नाले से पानी निकलवाने में करीब ढाई घंटे का समय लगा। पानी निकलने के बाद शाम करीब 4.30 बजे से मेटल डिटेक्टर टीम और सफाई कर्मचारियों ने नाले में मोबाइल की तलाश की। पुलिया से करीब 50 मीटर की दूरी पर एक टूटा हुआ कीपैड वाला मोबाइल बरामद हुआ। जिसे टीम ने बाहर निकाला है।

वहीं दूसरी ओर घटना के मास्टर माइंड रामजी के घर के आसपास झाड़ियों में भी सर्च आपरेशन चलाता रहा। यहां टीम को तात्याटोपे नगर मोड़ के पास झाड़ियों में एक टूटा हुआ एमआइ कंपनी स्मार्ट फोन मिला। दोनों टूटे मोबाइलों को पुलिस थाने ले आयी। एसपी साउथ दीपक भूकर ने बताया कि पुलिस के मुताबिक रामजी के घर के पास झाड़ियों में मिला एमआइ मोबाइल संजीत का है। इसका एक हिस्सा कोने से टूटा है, जिसे देखकर संजीत की बहन रुचि ने माना है कि यह मोबाइल उसके भाई को हो सकता है। एसपी साउथ ने बताया कि दोनों मोबाइल व सिम फोरेंसिक जांच के लिए भेजे जाएंगे। पुलिस के लिए यह दोनों फोन कई बड़े राज खोल सकते हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए