राजधानी लखनऊ के माल थाना क्षेत्र में इस समय प्रतिबंधित आम के हरे पेड़ों का अवैध कटान धड़ल्ले से जारी है, जबकि वन विभाग का कहना है कि आम के पेड़ों की कटान के लिए कोई भी परमिट जारी नहीं हुआ है।
बिना परमिट आम के हरे पेड़ों पर चल रहा आरा

Lucknow. राजधानी लखनऊ के माल थाना क्षेत्र में इस समय प्रतिबंधित आम के हरे पेड़ों का अवैध कटान धड़ल्ले से जारी है, जबकि वन विभाग का कहना है कि आम के पेड़ों की कटान के लिए कोई भी परमिट जारी नहीं हुआ है। 

बता दें कि जहां एक ओर सरकार वृक्षारोपण पर जोर दे रही है। वहीं लकड़ी माफिया, पुलिस और वन विभाग की मिलीभगत से हरे भरे आम, नीम के प्रतिबंधित पेड़ों पर आरा चलाने में कोई संकोच नहीं कर रहे हैं। लकड़ी ठेकेदार डाला और ट्रकों से तिरपाल बंद कर मंडी एंव दूसरे जिले में भेज देते हैं। 

पिछले 10 दिनों के अंदर मड़वाना क्षेत्र में आम के हरे भरे दर्जनों पेड़ों पर लकड़ी माफिया का आरा चल चुका है। जानकारी के अनुसार, मंझी में पंचायत भवन के उत्तर में करीब 20 पेड़ बिना परमिट काट दिए गए, लेकिन पुलिस की मिलीभगत के कारण कोई कार्रवाई नहीं की गई।

वहीं एक युवक ने बताया कि उसने पुलिस को फोन किया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। मंझी के मजरे रसीद खेड़ा में भी एक बाग में आम के आधा दर्जन पेड़ काट दिए गए हैं। इस सम्बन्ध में वन क्षेत्राधिकारी विकास सक्सेना का कहना है कि कोई भी परमिट जारी नहीं हुआ है, इसलिए जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

पूरी स्टोरी पढ़िए