दिल्ली (New Delhi) में शनिवार सुबह गिरफ्तार हुए आतंकी अबू यूसुफ (Abu Yusuf) ने कई बड़े खुलासे किए हैं। आतंकी अबू युसूफ इस्लामिक स्टेट ऑफ सीरिया एंड इराक (Islamic state of Syria and Iraq) के कमांडर के संपर्क में था।
दिल्ली में गिरफ्तार ISIS आतंकी का लखनऊ और बलरामपुर से भी संबंध

New Delhi. दिल्ली (New Delhi) में शनिवार सुबह गिरफ्तार हुए आतंकी अबू यूसुफ (Abu Yusuf) ने कई बड़े खुलासे किए हैं। आतंकी अबू युसूफ इस्लामिक स्टेट ऑफ सीरिया एंड इराक (Islamic state of Syria and Iraq) के कमांडर के संपर्क में था। अबू यूसुफ को इसके पहले सीरिया (Syria) में मारा गया युसूफ अलहिंदी गाइड कर रहा था। इसके बाद वह पाकिस्तान (Pakistan) के अबू हुफ्जा के संपर्क में आया, लेकिन वह भी अफगानिस्तान (Afghanistan) में ड्रोन हमले में मार दिया गया था। 

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने बताया कि आतंकी अबू युसूफ कई नामों से जाना जाता है उसके पास से पासपोर्ट भी बरामद हुआ है, जिसके अनुसार उसके एक बीवी और चार बच्चे हैं। बताया जा रहा है कि अबू युसूफ उत्तर प्रदेश के बलरामपुर (Balrampur) का रहने वाला है और वह बहुत दिनों तक लखनऊ (Lucknow) में भी रहा है।

ऐसे में उसके साथियों की तलाश में दिल्ली पुलिस के साथ यूपी एटीएस (Up ATS) लखनऊ और बलरामपुर में छापेमारी कर रही है। गिरफ्तार आतंकी का संपर्क कश्मीर के आतंकवादियों (Terrorist in Kashmir) से भी बताया जा रहा है। इसकी निशानदेही पर बुद्धा गार्डन के पास दो प्रेशर कुकर में 15 किलोग्राम के विस्फोटक भी बरामद हुए हैं, जिसे एनएसजी (NSG) ने डिफ्यूज कर दिया है। आतंकी के पास से एक दो पहिया बाइक भी बरामद हुई है, जिस पर गाजियाबाद का फर्जी नंबर प्लेट लगा हुआ था। 

बता दें कि गृह मंत्रालय (Home ministry) ने पहले ही अलर्ट जारी किया था कि पाकिस्तान के रास्ते में तीन आईएसआईएस (जैश-ए-मोहम्मद) के आतंकी भारत में दाखिल हो चुके हैं। इनका नाम जुमान खान, शकील अहमद और गुलजान है। यह आने वाले त्यौहारों में भारत में बड़ा हमला कर सकते हैं। यह भारी मात्रा में विस्फोटक के साथ जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के सियालकोट (Sialkot) के रास्ते दाखिल हुए हैं। 

इसके मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। पुलिस आयुक्त ने सभी थाना प्रभारी को निर्देश दिया है कि अपने क्षेत्रों में लगातार गश्त करते रहें, किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। भीड़ भाड़ वाले इलाकों में विशेष निगरानी रखी जाए। 

पूरी स्टोरी पढ़िए