हाथरस कांड को लेकर सोमवार को राष्ट्रीय सवर्ण परिषद ने एक खून से लिखा पत्र एसडीएम सदर को सौंपा। राष्ट्रीय सवर्ण परिषद की ओर से एसआईटी को प्रेषित पत्र में कहा गया है कि इस मामले में निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।
हाथरस कांड : सवर्ण समाज ने एसआईटी को सौंपा खून से लिखा पत्र

Hathras. हाथरस में दलित युवती से गैंगरेप और उसकी हत्या के मामले में राजनीति गरमाई हुई है। विपक्षी पार्टियां इस मुद्दे पर लगातार निशाना साध रही हैं। वहीं, अब इस मामले में जातिवाद को मुद्दा भी उठने लगा है। इसी कड़ी में सोमवार को राष्ट्रीय सवर्ण परिषद ने एक खून से लिखा पत्र एसडीएम सदर को सौंपा। 

राष्ट्रीय सवर्ण परिषद की ओर से एसआईटी को प्रेषित पत्र में कहा गया है कि इस मामले में निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। कोई निर्दोष नहीं फंसना चाहिए। भ्रामक खबरें फैलाने वाले राजनेताओं पर कार्रवाई की जानी चाहिए। अगर यह नेता अपनी गंदी राजनीति बंद नहीं करेंगे तो उनका हाथरस में घुसना मुश्किल हो जाएगा। हमारा समाज पीड़ित परिवार के साथ है। जो भी आरोपी है उसके खिलाफ कार्रवाई हो। अगर किसी बेगुनाह को गलत फंसाया गया तो हाथरस में वो आंदोलन होगा, जिसे लोगों ने सपने में भी नहीं सोचा होगा।

यह पत्र सोमवार को राष्ट्रीय सवर्ण परिषद के राष्ट्रीय प्रचारक पंकज धवरैया ने एक खून से लिखा पत्र एसडीएम सदर को सौंपा। इससे पहले रविवार को पूर्व विधायक के आवास पर शुरू हुई इस पंचायत में क्षेत्र के सवर्ण समाज के लोग भी इकट्ठा हुए। पंचायत के दौरान सवर्ण समाज के लोगों ने पुलिस की ओर से गिरफ्तार किए गए लोगों को निर्दोष बताया। वहीं, सीएम योगी के सीबीआई जांच की सिफारिश वाले फैसले का सवर्ण समाज के लोगों ने स्वागत भी किया। 

पूरी स्टोरी पढ़िए