हैरिस के पति प्रचार अभियान में जोरशोर से जुटे, पत्नी को सराहा-अमेरिका के लिए शानदार उपराष्ट्रपति साबित होंगी
हैरिस के पति प्रचार अभियान में जोरशोर से जुटे

-- शिव प्रसाद सिंह

अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी की उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस के प्रचार में उनके पति डगलस एमहॉफ जोरशोर से जुट गए हैं। प्रचार अभियान के दौरान उन्होंने हैरिस की सराहना करते हुए कहा कि वह हर दिन लोगों के न्याय के लिए लड़ती आ रही हैं। वह अमेरिका के लिए 'शानदारÓ उपराष्ट्रपति साबित होंगी। एमहॉफ (55) का जन्म न्यूयॉर्क के ब्रूकलिन में हुआ था। बाद में उनकी परवरिश लॉस एंजिलिस में हुई, जहां वह मनोरंजन जगत के लिए अटॉर्नी के रूप में काम करते हैं। फिलहाल वह अपनी पत्नी के चुनाव प्रचार के लिए अवकाश पर चल रहे हैं। एमहॉफ ने वृहस्पतिवार को दो सार्वजनिक कार्यक्रमों को संबोधित किया।

अपने भाषण में एमहॉफ ने कहा, 'वह (हैरिस) शानदार उपराष्ट्रपति साबित होंगी। मुझे इस बात का पूरा भरोसा है। वह और जो बिडेन मिलकर बेहतरीन काम करेंगे।एमहॉफ और हैरिस का विवाह छह वर्ष पूर्व हुआ था। एमहॉफ ने कहा, 'प्रत्येक दिन कमला लोगों के न्याय के लिए लड़ती रही हैं। एमहॉफ ने एलजीबीटीक्यू कॉकस और ग्रासरूट चंदा एकत्रित करने के कार्यक्रम में डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्यों से बिडेन के ऑनलाइन प्रचार में शामिल होने को कहा। साथ ही उनका कहना था कि वे यह सुनिश्चित करें कि वे मतदान के लिए पंजीकृत हों। एमहॉफ ने कहा, हमें जीत से ज्यादा काम करना है। ट्रम्प पर निशाना साधते हुए एमहॉफ ने कहा-'हमें बहुमत चाहिए, जो दिखाए कि इन तथाकथित राष्ट्रपति से यह परिभाषित नहीं होता कि हमारा देश क्या है और हमें क्या होना चाहिए।

चंदा एकत्र करने का कार्यक्रम किम और जेम्स टेलर ने आयोजित किया था, जहां उन्होंने बताया कि हैरिस को भाषण देते हुए देखकर उन्हें कैसा महसूस हुआ। उन्होंने कहा कि हैरिस का पूरा कार्यकाल उल्लेखनीय और प्रेरणादायक है। इस बीच, पार्टी से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन ने उम्मीदवारी स्वीकार करने संबंधी अपने भाषण में हैरिस की सराहना की और कैलिफोर्निया की सीनेटर को 'शक्तिशाली आवाज बताया। उनका कहना था कि हैरिस की कहानी अमेरिका की कहानी है। वह हमारे देश में लोगों के रास्ते में आने वाली बाधाओं के बारे में जानती हैं। महिलाओं, अश्वेत महिलाओं, अश्वेत अमेरिकी, दक्षिण एशियाई अमेरिकी, अप्रवासी लोग पीछे छोड़ दिए गए। उन्होंने सारी बाधाओं को पार किया है।

पूरी स्टोरी पढ़िए