दुनियाभर में कोरोना वायरस (Corona updates) का संक्रमण तेजी के साथ बढ़ रहा है। यह महामारी अब तक 2 करोड़ 18 लाख से ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में ले चुकी है।
कोरोना वायरस के बदलते रूप से घबराए विशेषज्ञ, कहा- वैक्सीन भी रहेगी बेअसर

New Delhi. दुनियाभर में कोरोना वायरस (Corona updates) का संक्रमण तेजी के साथ बढ़ रहा है। यह महामारी अब तक 2 करोड़ 18 लाख से ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में ले चुकी है। इसकी वजह से दुनिया भर में सात लाख 73 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। अभी तक दुनिया में इसकी कोई विश्वसनीय दवा या वैक्सीन (Vaccine) नहीं आई है, जिसकी वजह से संक्रमण तेजी के साथ दुनिया में फैल रहा है। वहीं, मलेशिया (Malaysia) में कोरोना महामारी (Corona virus) की एक नई किस्म का पता चला है, जो वर्तमान में चल रहे कोरोना वायरस से 10 गुना ज्यादा संक्रामक है। 

कोरोना की इस म्यूटेशन (mutation) को डी 614 जी (D614G) नाम से जाना जाता है। बताया जा रहा है कि मलेशिया में यह मामला भारत (India) से लौटे एक रेस्टोरेंट मालिक से सामने आया। रेस्टोरेंट का मालिक क्वारंटाइन (Quarantine) के नियमों का उल्लंघन किया, जिसकी वजह से उसे 5 माह की सजा और जुर्माना लगाया गया है। इंडोनेशिया में ऐसा ही मामला फिलीपींस (Philippines) से लौटे 45 लोगों के समूह में भी देखने को मिला है। शीर्ष अमेरिकी स्वास्थ्य सलाहकार डॉ. फौसी ने बताया कि इसने म्यूटेशन से कोरोना संक्रमण और तेजी के साथ हो सकता है। 

वहीं, मलेशिया स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख जनरल नूर हिशाम अब्दुल्लाह ने कहा कि इससे अभी तक बन रही वैक्सीन (Vaccine) और संक्रमण रोकने के तरीके फेल हो सकते हैं। उन्होंने अपने देशवासियों से अपील की है कि कोरोना के नई म्यूटेशन को लेकर सावधानी बरतें, सतर्क रहें और सहयोग करें जिससे कि संक्रमण के चैन को तोड़ा जा सके।

W.H.O. ने बड़ा बयान दिया

बता दें कि अमेरिका (America) और यूरोप (Urop) के देशों में तेजी के साथ फेल रहा है। हालांकि डब्ल्यूएचओ (W.H.O.) ने कहा कि अभी तक इसका कोई प्रमाण नहीं मिला है, किससे इंसानों में गंभीर बीमारी हो रही है। कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) को लेकर 'सेल प्रेस' की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि इस नए म्यूटेशन (mutation) से वैक्सीन की क्षमता पर ज्यादा प्रभाव पड़ने की संभावना नहीं है। 

पूरी स्टोरी पढ़िए