पूर्वी लद्दाख में एलएससी पर भारत और चीन के बीच काफी दिनों से गतिरोध बना हुआ है। इस बीच सीमा सड़क संगठन ने सीमा पर अपने इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के काम में और तेजी ले आया है।
चीन की बौखलाहट के बाद भी नहीं रुका बीआरओ का काम

New Delhi. पूर्वी लद्दाख में एलएससी पर भारत और चीन के बीच काफी दिनों से गतिरोध बना हुआ है। इस बीच सीमा सड़क संगठन ने सीमा पर अपने इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के काम में और तेजी ले आया है। भारत के सीमा क्षेत्र में विकास चिढ़े चीन की बौखलाहट के आगे सीमा सड़क संगठन का काम रुका नहीं , बल्कि और तेजी से बढ़ रहा है।

बीआरओ के डीजी लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह ने कहा कि हमने अस्थायी पुलों को स्थायी पुलों में बदलने का काम शुरू कर दिया है। इस साल हम तीन गुना अधिक क्षमता के साथ काम कर रहे हैं। यह आर्थिक विकास, इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास, पर्यटन और सुरक्षाबलों के तेजी से मूवमेंट में मदद देगा। हरपाल सिंह ने कहा कि लद्दाख में बड़े पुलों का निर्माण किया जा रहा है। 40-50 पुल निर्माणाधीन हैं, जो छह महीने से लेकर डेढ़ साल तक में तैयार हो जाएंगे।

पूरी स्टोरी पढ़िए