अनलॉक-5 में सिनेमाघर और मल्टीप्लेक्स 50 प्रतिशत सीटों के साथ खोले जाने की अनुमति दी गयी है। इसके अलावा बिजनेस टू बिजनेस एक्जिबिशन को भी गाइडलाइंस के तहत परमिट दे दिया गया है।
Unlock-5 की गाइडलाइंस जारी, जानें किन चीजों पर मिली छूट

New Delhi. गृह मंत्रालय ने अनलॉक-5 के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी हैं। जिसके मुताबिक अनलॉक-5 में सिनेमाघर और मल्टीप्लेक्स 50 प्रतिशत सीटों के साथ खोले जाने की अनुमति दी गयी है। इसके अलावा बिजनेस टू बिजनेस एक्जिबिशन को भी गाइडलाइंस के तहत परमिट दे दिया गया है। हालांकि कंटेनमेंट जोन में सामाजिक, शैक्षणिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक के कार्यक्रमों में पाबंदी लागू रहेगी। 

इन चीजों पर छूट

अनलॉक-5 की गाइडलाइन के मुताबिक, सिनेमा / थिएटर / मल्टीप्लेक्स को 50% क्षमता के साथ खोलने की अनुमति होगी, जिसके लिए I & B मंत्रालय द्वारा SOP जारी की जाएगी। सिनेमा हॉल / मल्टीप्लेक्स / स्विमिंग पूल को स्पोर्ट्सपर्सन की ट्रेनिंग के लिए / एंटरटेनमेंट पार्क को 15 अक्टूबर से फिर से खोलने के लिए नई गाइडलाइन जारी की गयी हैं। 15 अक्टूबर के बाद स्कूल और कोचिंग संस्थान खोलने का फैसला राज्य सरकारों के हाथ में है। साथ ही अभिभावकों की रजामंदी भी जरूरी होगी। छात्र अभिभावकों की लिखित सहमति से ही स्कूलों / संस्थानों में जा सकते हैं।

15 अक्टूबर से उच्च शिक्षा संस्थानों में केवल पीएचडी, साइंस और टेक्नोलॉजी स्ट्रीम में पीजी के छात्रों के लिए लैब कार्यों की अनुमति होगी। मनोरंजन पार्क जैसे स्थानों को खोलने की अनुमति दी जाएगी, जिसके लिए SOP स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी की जाएगी। सबको आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल करते रहने की सलाह दी गई है। ऑनलाइन / डिस्टेंस लर्निंग शिक्षण का पसंदीदा तरीका बना रहेगा और इसे प्रोत्साहित किया जाएगा।

इन चीजों पर रहेगी पाबंदी

सामाजिक, शैक्षणिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक, राजनैतिक और अन्य कार्यक्रमों में सिर्फ 100 लोगों को शामिल होने की अनुमति होगी। लेकिन कंटेनमेंट जोन में ऐसे कार्यक्रमों पर सख्त पाबंदी रहेगी। केंद्र सरकार ने कंटेनमेंट जोन में जारी सख्त लॉकडाउन को 31 अक्टूबर तक बढ़ा दिया है। बंद जगहों पर 200 लोगों की क्षमता वाले हॉल में आधे लोगों को जाने की इजाजत होगी। ऐसी जगहों पर संक्रमण से बचाव और सोशल डिस्टेन्सिंग के नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। 

अनलॉक-5 में दुर्गा पूजा, नवरात्रि, दशहरा जैसे कई बड़े त्योहार होने वाले हैं ऐसे में एसओपी में इस बात का खास ध्यान रखा गया है कि लोग कोरोना संक्रमण से बचाव के उपायों के साथ त्योहारों को भी हर्षोल्लास से मना सकें। 65 साल से अधिक उम्र के लोगों, गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों, गर्भवती महिलाओं और 10 साल से कम उम्र के बच्चों को घर में ही रहने को कहा है और बहुत जरूरी होने पर ही बाहर जाने को कहा है।

कंटेनमेंट जोन्‍स के नियमों में सख्ती जारी रहेगी। राज्य सरकारें कंटेनमेंट जोन्‍स के बाहर अपनी मर्जी से लॉकडाउन नहीं लगा सकती हैं। लॉकडाउन के लिए उन्हें केंद्र के नियमों का पालन करना होगा और केंद्र से परामर्श करके ही फैसला लेना होगा।

पूरी स्टोरी पढ़िए