किसान बिल को लेकर विपक्षी दल के नेता राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से बुधवार को मुलाकात करने वाले हैं। विपक्षी दलों के नेताओं ने राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगा है। शाम पांच वे राष्ट्रपति से मुलाकात कर सकते हैं।
किसान बिल को लेकर राष्ट्रपति से मिलेगा विपक्ष

New Delhi. राज्यसभा में हंगामा करने वाले सांसदों के निलंबन को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच तनातनी जारी है। इस मामले को लेकर विपक्षी दल के नेता राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से बुधवार को मुलाकात करने वाले हैं। विपक्षी दलों के नेताओं ने राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगा है। शाम पांच वे राष्ट्रपति से मुलाकात कर सकते हैं।  

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विपक्षी दलों की ओर से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने का वक्त मांगा गया था, जिसमें कृषि बिल पर चिंता, राज्यसभा में हुए हंगामे, सांसदों के निलंबन के मसले पर चर्चा की बात कही गई थी। विपक्ष चाहता है किं राष्ट्रपति कृषि बिल को वापस राज्यसभा में लौटा दें।  वहीं, दूसरी तरफ राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाब नबी आजाद के दफ्तर में किसान बिलों को लेकर आगे की रणनीति पर चर्चा की जाएगी, साथ ही सरकार के खिलाफ किस तरह आवाज़ उठाई जाए इसपर भी मंथन होगा।  

बता दें कि सभापति वैंकेया नायडू की ओर से विपक्ष के 8 सांसदों को निलंबित किये जाने के बाद से विपक्षी दल दोनों सदनों का बहिष्कार कर रहे हैं। विपक्ष ने ऐलान किया था कि जबतक उनकी शर्तें नहीं मानी जाएंगी वो सदन का बहिष्कार करेंगे। विपक्ष की मांग है कि कृषि बिल को सिलेक्ट कमेटी को भेजा जाए और निलंबित किए गए सांसदों का निलंबन वापसी हो।  

पूरी स्टोरी पढ़िए