राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151वीं जयंती आज (2 अक्तूबर) मनायी जा रही है। साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती भी आज ही है। इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द, पीएम नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत तमाम नेताओं ने दोनों को श्रद्धांजलि दी।
महात्मा गांधी की 151वीं जयंती : राष्ट्रपति, पीएम समेत तमाम नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

New Delhi. देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151वीं जयंती आज (2 अक्तूबर) मनायी जा रही है। साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती भी आज ही है। इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द, पीएम नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत तमाम नेताओं ने दोनों को श्रद्धांजलि दी। 

शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी दिल्ली स्थित राजघाट पहुंचे, यहां पर उन्होंने महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके अलावा पीएम मोदी ने विजय घाट पर पूर्व पीएम लालबहादुर शास्त्री को भी श्रद्धांजलि अर्पित की। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी गांधी जयंती पर ट्वीट करके लिखा, 'आइए, गांधी जयंती के पुनीत अवसर पर हम सब पुन: यह संकल्‍प लें कि हम सत्‍य और अहिंसा के मार्ग का अनुसरण करते हुए, राष्‍ट्र के कल्‍याण और प्रगति के लिए सदैव समर्पित रहेंगे और एक स्‍वच्‍छ, समृद्ध, सशक्‍त व समावेशी भारत का निर्माण करके गांधी जी के सपनों को साकार करेंगे।' 

वहीं, पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर उन्हें भी याद करते हुए एक वीडियो ट्वीट किया। साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'लाल बहादुर शास्त्री जी विनम्र और दृढ़ थे। उन्होंने सादगी को महत्व दिया और हमारे राष्ट्र के कल्याण के लिए जीया। हम उनकी जयंती पर उन्हें भारत के लिए किए गए हर काम के लिए कृतज्ञता की भावना के साथ याद करते हैं।' 

एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा कि गांधी जयंती के दिन, कृतज्ञ राष्‍ट्र की ओर से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धा-सुमन अर्पित करता हूं। सत्‍य, अहिंसा और प्रेम का उनका संदेश समाज में समरसता और सौहार्द का संचार करके समस्त विश्‍व के कल्‍याण का मार्ग प्रशस्‍त करता है। वे संपूर्ण मानवता के प्रेरणा-स्रोत बने हुए हैं।

इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि आज जब हम महात्मा गांधी और लालबहादुर शास्त्री की जयंती मना रहे हैं, 'किसान विरोधी' 3 कानूनों का विरोध कर रहे हैं। मेरा मानना ​​है कि किसानों और कांग्रेस द्वारा किया गया आंदोलन सफल होगा और किसान विजयी होंगे।

पूरी स्टोरी पढ़िए