नॉर्वे की नोबेल कमिटी ने शुक्रवार को इस साल के नोबल शांति पुरस्कार के विजेता के नाम की घोषणा कर दी। इस साल का नोबेल शांति पुरस्कार से वर्ल्ड फूड प्रोग्राम को सम्मानित किया गया है।
वर्ल्ड फूड प्रोग्राम को मिला नोबेल शांति पुरस्कार 2020

New Delhi. नॉर्वे की नोबेल कमिटी ने शुक्रवार को इस साल के नोबल शांति पुरस्कार के विजेता के नाम की घोषणा कर दी। इस साल का नोबेल शांति पुरस्कार से वर्ल्ड फूड प्रोग्राम को सम्मानित किया गया है। नोबल शांति पुरस्कार के लिए 300 से ज्यादा नामांकन हुए थे। इस सम्मान के लिए पहला नाम प्रेस फ्रीडम समूहों, विश्व स्वास्थ्य संगठन और पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग की मजबूत दावेदारी थी। 

नोबेल कमेटी ने पूरे विश्व में भूख को मिटाने और पीड़ितों की मदद में वर्ल्ड फूड प्रोग्राम की भूमिका को अहम बताया है। कमेटी की अध्यक्ष बेरिट राइस एंडर्सन ने बताया कि 2019 में 88 देशों के करीब 10 करोड़ लोगों तक वर्ल्ड फूड प्रोग्राम की सहायता पहुंची। डब्ल्यूएफपी दुनिया भर में भूख को मिटाने और खाद्य सुरक्षा को बढ़ावा देने वाला सबसे बड़ा संगठन है। ओस्लो के नोबेल इंस्टीट्यूट में आमतौर पर उमड़ने वाली भारी भीड़ नदारद थी। 

बता दें कि इस बार नोबेल शांति पुरस्कारों के लिए कुल 318 नामांकन आए। इनमें 211 शख्सियतें और 107 संगठन शामिल हैं। हालांकि इस सूची में शामिल नामों को अगले 50 साल तक के लिए गोपनीय रखा जाता है। 

पूरी स्टोरी पढ़िए