बॉलीवुड अभिनेता अपनी दोस्त नीति गोयल के साथ मिलकर "घर भेजो" मुहिम चला रहे हैं, जिस पर अब सियासत शुरू हो गई है।
सोनू सूद को लेकर शुरू हुई सियासत, कांग्रेस ने कहा- 'उत्तर प्रदेश में होते तो जेल में डाल देती योगी सरकार'

Mumbai. बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद लॉकडाउन में मजदूरों व प्रवासियों के लिए 'मसीहा' बनकर सामने आए हैं। पिछले कई दिनों में सोनू सूद ने हरसंभव कोशिश कर लॉकडाउन में फंसे प्रवासियों को घर पहुंचाया है। बॉलीवुड अभिनेता अपनी दोस्त नीति गोयल के साथ मिल कर "घर भेजो" मुहिम चला रहे हैं, जिस पर अब सियासत शुरू हो गई है। कांग्रेस ने तंज कसते हुए कहा कि शुक्र मनाइए कि सोनू सूद जी महाराष्ट्र में नेक काम कर हजारों यूपी के लोगों को मदद कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि, अगर सोनू सूद उत्तर प्रदेश में होते तो योगी सरकार पहले बसों को दो पहिया वाहन बोलती, नेक काम में अड़ंगा अटकाते हुए सोनू सूद को जेल में डाल देती। योगी सरकार नेक कार्य करने पर लोगों को जेल भेजती है। कई लोगों ने इस ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया भी दी। अगर सोनू सूद की बात की जाए तो उनके फैंस उन्हें सुपरहीरो का दर्ज़ा से चुके हैं। सोशल मीडिया पर उनकी जमकर तारीफ की जा रही है। उनके द्वारा पहुंचाई जा रही मदद की वजह से बॉलीवुड अभिनेता को रियल हीरो बताया जा रहा है। 

प्रवासियों का दुख देखा नहीं जा रहा: सोनू सूद

सोनू सूद ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि उनसे प्रवासियों का दुख देखा नहीं जा रहा है। वे देश के अलग अलग हिस्सों में फंसे हुए सभी मजदूरों को अपना परिवार मानते हैं और उन्हें घर पहुंचाने के लिए वे हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। उनके सोशल मीडिया पर आने वाले किसी भी मेसेज को वे अनदेखा नहीं कर रहे हैं। बल्कि सोनू उनसे संपर्क कर उन्हें मदद का आश्वासन दे रहे हैं। इन दिनों बॉलीवुड अभिनेता का ट्विटर अकाउंट ऐसे ही संदेशों से भरा पड़ा है, खुद यह बात जाहिर कर उन्हों बताया कि हजारों की संख्या में उन्हें मदद के लिए संदेश आ रहे हैं। वे किसी को भी निराश नहीं कर रहे हैं। 

पूरी स्टोरी पढ़िए