भारत में कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए टीकाकरण अभियान दिन पर दिन आगे बढ़ता जा रहा है। ऐसे में बढ़ती मांग को देखते हुए सरकार ने टीकाकरण के लिए ज्यादा निजी अस्पतालों को अनुमति देने का फैसला किया है।
सभी निजी अस्पतालों में भी लगेंगे कोरोना के टीके

भारत में कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए टीकाकरण अभियान दिन पर दिन आगे बढ़ता जा रहा है। ऐसे में बढ़ती मांग को देखते हुए सरकार ने टीकाकरण के लिए ज्यादा निजी अस्पतालों को अनुमति देने का फैसला किया है। कोरोना वायरस का टीका सरकारी अस्पतालों में मुफ्त दिया जा रहा है, जबकि निजी अस्पतालों में लोगों को इसके लिए भुगतान करना पड़ रहा है। प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के टीकाकरण के लिए 250 रुपये की अधिकतम सीमा तय की गई है। राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को इस बारे में सूचित कर दिया गया है। 

अभी तक भारत में एक करोड़ से भी ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका लगा दिया जा चुका है। जिनमें स्वास्थ्यकर्मी और फ्रंटलाइन वर्कर्स शामिल हैं। अब मार्च में कोरोना टीकाकरण का दूसरा चरण यानी टीकाकरण 2.0 शुरू होने वाला है। इसके लिए सरकार ने आदेश दे दिया है। 

यदि किसी व्यक्ति को कोरोना का टीका लगवाना है तो सबसे पहले उसे इसके लिये रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके लिए आप खुद कोविन 2.0 पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। वहीं आरोग्य सेतु ऐप के जरिये कोविन वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं, इसके अलावा आप अपने नजदीक के वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। हालांकि 60 से ज्यादा उम्र वाले लोग फोन से रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इसके लिए आपको कॉल सेंटर का नंबर 1507 डायल करना होगा। 60 से ऊपर के लोगों के किसी दस्तावेज की जरूरत नहीं है, बल्कि उन्हें आधार कार्ड के माध्यम से अपनी पहचान को मान्य करना होगा। 

पूरी स्टोरी पढ़िए