जानिए, यूपी में मुख्तार अंसारी का नया ठिकाना
जानिए, यूपी में मुख्तार अंसारी का नया ठिकाना

उत्तर प्रदेश के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को बीते दिन यानी मंगलवार को यूपी पुलिस को सौंप दिया गया। मुख्तार अंसारी पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल शिफ्ट कर दिया गया है। रोपड़ से कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद यूपी पुलिस अंसारी को लेकर निकल गई, करीब 14 घंटे बाद यूपी पुलिस माफिया को लेकर बांदा जेल पहुंची। जानकारी के मुताबिक, आज सुबह करीब 05:30 पर बांदा जेल के दारोगा ने मुख्तार अंसारी को बैरक तक पहुंचाने की पुष्टि हुई है। 

जानकारी के मुताबिक, बीते दिन यानी मंगलवार को दोपहर करीब दो बजे यूपी पुलिस की टीम मुख्तार को लेकर रोपड़ जेल से बाहर निकली थी। मुख्‍तार अंसारी एंबुलेंस में बैठा रहा और उसके आसपास वज्र समेत पुलिस की दस गाड़ियां चल रही थीं, जिसमें 150 पुलिसकर्मी सवार थे। सड़क मार्ग से माफिया को लाने में टीम ने करीब 1800 किलोमीटर का सफर तय किया गया। अंसारी को आज यानी बुधवार तड़के बांदा जेल में लाने के बाद कोरोना टेस्ट कराया गया। इसके लिए जेल में रात 12 बजे से ही स्वास्थ्य टीम मौजूद रही। बहरहाल, अब उसका नया पता बांदा मंडल कारागार की बैरक नंबर 15 होगा।  

जानकारी के मुताबिक, मुख्तार अंसारी को लेकर जा रहा बांदा पुलिस का काफिला ग्रेटर नोएडा में करीब 20 मिनट तक यमुना एक्सप्रेस-वे पर जेवर में रुक कर वाहनों में ईंधन लेने के बाद जेवर टोल पार कर मथुरा की तरफ रवाना हुआ। पुलिस का काफिला आगरा में यमुना एक्सप्रेस वे के खंदौली टोल प्लाजा से रात पौने दस बजे गुजरा। मुख्तार अंसारी को बांदा जेल लाने के दौरान इटावा जनपद की सीमा में पड़ने वाले 60 किमी के नेशनल हाईवे आगरा-कानपुर को हाई अलर्ट पर जारी किया गया था। जनपद में आगरा की तरफ से मीठेपुर गांव से जसवंतनगर थाना क्षेत्र की सीमा शुरू हो जाती है, उसके बाद सिविल लाइन, फ्रेंड्स कॉलोनी, इकदिल, बकेवर थाना सीमा के अंतर्गत आते हैं। इन सीमाओं पर तैनात सभी पुलिसकर्मियों को मुख्तार अंसारी के काफिले की गाड़ियों को सुरक्षित निकालने के आदेश शासन द्वारा जारी किए गए थे।

जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में मुख्तार पर अब तक 52 मुकदमे दर्ज हैं, उसके गैंग के अबतक 96 सदस्य गिरफ्तार हुए हैं और उसकी 192 करोड़ की ज्यादा की संपत्तियों को जब्त करने और गिराने की कार्रवाई भी हुई है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार मुख्तार अंसारी को 12 अप्रैल से पहले बांदा जेल में शिफ्ट किया जाना है। पंजाब सरकार के यूपी सरकार को पत्र लिखे जाने के बाद बांदा से पुलिस टीम पंजाब के लिए रवाना किए जाने का निर्णय किया गया था, जिसके बाद सीओ के नेतृत्व में पुलिस टीम रवाना की गई थी, जो अब मुख्तार को लेकर सूबे में आ चुकी है। 

पूरी स्टोरी पढ़िए