सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajpoot) मौत मामले में बिहार सरकार सीबीआई (CBI) जांच की मांग कर रही थी।
केंद्र ने मानी बिहार सरकार की सिफारिश, सुशांत सिंह राजपूत केस सीबीआई को ट्रांसफर

New Delhi. सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajpoot) मौत मामले में बिहार सरकार सीबीआई (CBI) जांच की मांग कर रही थी। बिहार सरकार (Bihar Government) की सिफारिश को मानते हुए केंद्र ने इस मामले को सीबीआई (CBI) को ट्रांसफर कर दिया है। बिहार सरकार (Bihar Government) ने मंगलवार को केंद्र को सिफारिश भेजी थी, जिस पर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार (Central Government) की तरफ से सरकारी वकील तुषार मेहता (Tushar Mehta) ने बताया कि बिहार सरकार की सिफारिश मानते हुए इस केस को सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया है।

तुषार मेहता (Tushar Mehta) ने बताया कि रिया (Rhea Chakraborty) का पक्ष चाहता है कि मुंबई पुलिस (Mumbai Police) जांच करे, जबकि सुशांत का पक्ष चाहता है बिहार पुलिस जांच करे, ऐसी स्थित में सबूतों के साथ केंद्र जांच करेगा, जिससे सबूतों के साथ छेड़-छाड़ न हो। इसके साथ ही सॉलिसिटर जनरल ने महाराष्ट्र पुलिस (Maharshtra Police) से कहा कि मामला सीबीआई (CBI) के हवाले है। ऐसे में मुंबई पुलिस कोई गतिविधि न करे, नहीं तो यह सबूतों को नष्ट करने के अधीन आएगा। 

सुशांत राजपूत (Sushant Rajpoot) के पिता कृष्ण कुमार सिंह (K. K. Singh) के वकील विकास सिंह (Vikas Singh) ने जांच को सीबीआई (CBI) को ट्रांसफर करने की मांग की। उन्होंने कहा कि सुशांत के पिता को मुंबई पुलिस पर विश्वास नहीं है। मुंबई पुलिस सबूतों को नष्ट कर सकती है। वकील विकास सिंह ने मुंबई पुलिस पर आरोप लगाया कि पुलिस ने सुशांत की लाश को फंदे से उतारने वाले को कैसे हैदराबाद जाने की इजाजत दी। 

वहीं, सुशांत की एक्स गर्लफ्रेंड रिया (Rhea Chakraborty) के वकील श्याम दीवान ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता के बयान पर कहा कि एफआईआर (FIR) ज्यूरिसडिक्शन के अनुसार नहीं है, लिहाजा कोर्ट इस कार्रवाई पर रोक लगाए। उन्होंने बिहार में दर्ज एफआईआर (Fir) को मुंबई ट्रांसफर करने की मांग की और कहा कि यह मामला उनके क्षेत्राधिकार में यह नहीं आता है। बिहार पुलिस (Bihar Police) मुंबई (Mumbai) पहुंच कर खुद पूछताछ करने लगी, जबकि मुंबई पुलिस पहले से ही इसकी जांच कर रही है। 

जस्टिस ऋषिकेश राय ने सभी की दलीलें सुनने के बाद कहा कि सुशांत काफी प्रतिभाशाली और उभरते हुए लोकप्रिय अभिनेता थे। उनकी इस तरह रहस्यमयी तरीके से मौत होना चौंकाने वाला है। ऐसे हाई प्रोफ़ाइल केस में सभी की राय को सुनते हुए कानूनी प्रक्रिया से आगे बढ़ा जा सकता है। यह जांच का विषय है कि इसमें अपराध शामिल है या नहीं। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने कहा कि हम तय करेंगे कि इसकी जांच कौन करेगा और मुंबई पुलिस (Mumbai Police) से अब तक हुई कार्रवाई का ब्यौरा मांगा। 

इसके अलावा कोर्ट ने मुंबई पुलिस को बिहार पुलिस का सहयोग करने का निर्देश दिया और बिहार पुलिस के अधिकारियों से बुरे बर्ताव पर महाराष्ट्र सरकार को फटकार लगाया और सीबीआई (CBI) जांच पर महाराष्ट्र सरकार से जवाब मांगा। बता दें कि लंबे समय से सुशांत सिंह राजपूत के प्रशंसक और तमाम वरिष्ठ नेताओं द्वारा लगातार इस केस की सीबीआई से जांच कराने की मांग की जा रही थी। 

पूरी स्टोरी पढ़िए