मुख्य समाचार
1 करोड़ में मिल रहा है यह टूटा iPhone 4S आईपीएल: क्यों नही मिला इशांत और इरफान जैसे खिलाड़ियों को कोई खरीदार होर्डिंग लगा रहे युवक की करंट से मौत नगर निगम SMS से रोकेगा फर्जीवाड़ा 10 कलाकारों की कृतियों को 3 मार्च को मिलेगा सम्मान 7वां वेतन आयोग : इन विभागों के कर्मचारियों को देर से मिली खुशी, साथ में गम भी वृद्घ दंपति की गला रेत कर हत्या टेस्ट रिपोर्ट HIV पॉजिटिव निकली तो दंपति ने की खुदकुशी मुकेश अंबानी रिलायंस जियो को लेकर कर सकते हैं आज महत्वपूर्ण ऐलान ब्राजीलियाई पुलिस ने कहा, पूर्व राष्ट्रपतियों ने जांच में बाधा डाली IPL में भी कप्तानी नहीं करेंगे धोनी,अजहर बोले- यह घटिया फैसला है अफगानिस्तान ने 85 आतंकवादियों की लिस्ट की पाकिस्तान के हवाले फिल्म इत्तेफाक की शूटिंग शुरू श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स अपनी योग्यता साबित करें: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी लेप्टिनेंट जनरल एचआर मैक्मास्टर बने अमेरिका के नये नेशनल सिक्युरिटी एडवाइजर 102,108 एंबुलेंस घोटाले में फंसी सरकार पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में नक्सली ढेर, हथियार बरामद ब्लाइंड टी-20 विश्वकप विजेता को खेल मंत्री विजय गोयल ने किया सम्मानित उस्तादों की शानदार पारंपरिक विरासत को अवसर उपलब्ध करा रहा है हुनर हाट पुलिस और ग्रामीणो में जमकर हुआ पथराव, मौके पर कई थानो की पुलिस पहुँची केंद्रीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली कल एचसीएल ग्रांट 2017 के विजेताओं को करेंगे सम्‍मानित बंगलुरु: बाइक सवार ने एयरहोस्टेस से की छेड़छाड़, कपड़े फाड़े ईरान: तीन दिवसीय सैन्याभ्यास शुरू मुख्यमंत्री की राष्ट्रीय बाल आयोग में शिकायत महाराष्ट्र में बीएमसी सहित 10 महानगरपालिकाओं के लिए वोटिंग ऑपरेशन क्लीन मनी का दूसरा चरण मार्च में होगा शुरू आस्ट्रेलिया: शॉपिंग सेंटर से टकराया विमान, 5 लोगों की मौत जम्मू-श्रीनगर: भूस्खलनों की वजह से दूसरे दिन भी राजमार्ग बंद दामाद की पिटाई से घायल ससुर ने तोड़ा दम पिता मजदूर,मां बनाती है चाय, बेटे को मिले 3 करोड़ सोनिया और राहुल गांधी ने PM मोदी पर लगाया था ये आरोप, बिहार में हुआ मुकदमा बलात्कार के आरोपी गायत्री प्रजापति के खिलाफ जांच शुरू राजस्थान के कोटा में बीजेपी MLA के पति ने मारा पुलिसवाले को थप्पड़ केरल मुख्यमंत्री ने 2010 गुंड़ों को 30 दिन के अंदर गिरफ्तार करने का दिया निर्देश बिना परमिट के चल रहे ई-रिक्शों की होगी धरपकड़ RBI- डिजिटल बैंकिंग नहीं अपनाया तो इतिहास बन जाएंगे बैंक रूस के राजदूत विताली चर्किन का संयुक्त राष्ट्र में निधन बिहार के नेताओं की भी अहम भूमिका, यूपी चुनाव में भाजपा ने झोंकी ताकत भारत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चाहता है हाफिज के खिलाफ कार्रवाई चीन: शेयर बाजार मजबूती के साथ खुले 23 फरवरी से इंटीग्रेटेड बिल्डिंग सॉल्यूशन प्रदर्शनी शार्ट सर्किट से लगी बसमें आग, सुरक्षित यात्री हुनर हाट देखने 20 लाख से अधिक लोग गए चीन की 2020 तक नागरिक परिवहन के लिए 74 हवाईअड्डे बनाने की योजना मुशर्रफ ने अफगानिस्तान खुफिया एजेंसी को भारत के हाथ की कठपुतली बताया

14 Views

साइबर क्राइम में भारत बना नंबर वन, बिहार का भी बुरा हाल


AMIT SINGH 24/12/2016 9:47

पटना । सरकार की नोटबंदी, कैशलेस इकॉनमी और डिजिटल ट्रांजेक्शन के लिए यह बुरी खबर है। रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत रैनसमवेयर अटैक्स (इंटरनेट के जरिए ब्लैकमेल कर पैसा वसूली) के मामले में भारत दुनिया में पहले तथा साइबर क्राइम में छठे स्थान पर है। एक साल के दौरान ऐसे मामले दोगुने हो गए हैं। इंटरनेट स्पीड में तो हम पड़ोसी नेपाल और बांग्लादेश से भी पीछे हैं।

बिहार में भी साइबर क्राइम के मामले बढ़े हैं। बिहार की बात करें तो बीते कुछ महीनों के दौरान करोड़ों की लॉटरी निकलने और बैंक कर्मी बता एटीएम व अकांउट के डिटेल्स पूछने के कई मामले सामने आए हैं। ऐसे मामलों में अपराधी लोगों से उनके बैंक खातों की जानकारी ले जमा रकम को ऑनलाइन निकाल लेते हैं। पुलिस ऐसे किसी भी अनजान कॉल या ई-मेल से सतर्क रहने की चेतावनी देती रही है, लेकिन लोग ठगे जा रहे हैं।

बिहार के साइबर एक्सपर्ट अतुल प्रकाश मानते हैं कि कैशलेश इकॉनोमी में डिजिटल ट्रांजेक्शन का बढ़ना तय है। लेकिन, भारत, खासकर बिहार की अधिसंख्य अाबादी इसके लिए तैयार नहीं है। इसका मुख्य कारण साइबर इलिटरेसी है। खासकर ग्रामीण आबादी तथा बुजुर्ग व महिलाएं इंटरनेट से दूर हैं। उन्हें डिजिटल ट्रांजेक्शन तक के मोड में ले जाना सरकार के लिए चुनौती तो है ही, इस क्रम में साइबर क्राइम बढ़ने की भी आशंका बरकरार है।

खास बात यह भी है कि ऐसे अधिकांश मामलों में अपराधियों को पकड़ने में हमारी पुलिस विफल रही है। ऐसे में जरूरी है कि सरकार इन्फ्रास्ट्रक्चर और सेफ ऑनलाइन ट्रांजैक्शन्स को लेकर एकसाथ कदम उठाए।

वैसे, हैरान करने वाली एक बात और सामने आई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक इंटरनेट स्पीड के मामले में हम दुनिया के विकसित देशों के सामने कहीं नहीं ठहरते। डाउनलोड स्पीड के मामले में भारत दुनिया में 96वें नंबर पर आता है। हम फिलहाल नेपाल और बांग्लादेश से भी पीछे हैं। ऐवरेज बैंडविड्थ अवेलेबिलिटी की बात करें तो हम 105वें नंबर पर हैं। बैंडविड्थ अवेलेबिलिटी के मामले में श्रीलंका, चीन, साउथ कोरिया, इंडोनेशिया, मलयेशिया और कुछ अन्य देश हमसे कहीं आगे हैं।

 



कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया