मुख्य समाचार
ATM से निकले चूरन वाले नोट शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में तेजी CM के. चंद्रशेखर ने सरकारी खर्च पर बालाजी मंदिर में चढ़ाए साढ़े 5 करोड़ के गहने एक महीने से सीवेज का पानी पिला रहा जलकल चीन ने दक्षिण चीन सागर में किया प्रयोगशाला का निर्माण चौथे दौर में 12 जिलों की 53 विधानसभा सीटों पर मतदान कल रिलायंस जियो (Jio) की पेशकश से नाराज वोडाफोन (Vodafone) ने कहा- रूल तोड़ा ब्रिटेन में जनगणनाः सिख और कश्मीरियों के लिए नई श्रेणी बनाने पर विचार फरक्का बांध को बंद करने की नीतीश कुमार की मांग पर सुशील मोदी ने उठाए सवाल मुख्यमंत्री- तिरुपति बालाजी को चढ़ाएंगे 5.45 करोड़ रुपये के गहने जयशंकर बीजिंग यात्रा पर, चीनी अधिकारी से की मुलाकात 1 करोड़ में मिल रहा है यह टूटा iPhone 4S आईपीएल: क्यों नही मिला इशांत और इरफान जैसे खिलाड़ियों को कोई खरीदार होर्डिंग लगा रहे युवक की करंट से मौत नगर निगम SMS से रोकेगा फर्जीवाड़ा 10 कलाकारों की कृतियों को 3 मार्च को मिलेगा सम्मान 7वां वेतन आयोग : इन विभागों के कर्मचारियों को देर से मिली खुशी, साथ में गम भी वृद्घ दंपति की गला रेत कर हत्या टेस्ट रिपोर्ट HIV पॉजिटिव निकली तो दंपति ने की खुदकुशी मुकेश अंबानी रिलायंस जियो को लेकर कर सकते हैं आज महत्वपूर्ण ऐलान ब्राजीलियाई पुलिस ने कहा, पूर्व राष्ट्रपतियों ने जांच में बाधा डाली IPL में भी कप्तानी नहीं करेंगे धोनी,अजहर बोले- यह घटिया फैसला है अफगानिस्तान ने 85 आतंकवादियों की लिस्ट की पाकिस्तान के हवाले फिल्म इत्तेफाक की शूटिंग शुरू श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स अपनी योग्यता साबित करें: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

11 Views

विजिलेंस अफसरों के खिलाफ जांच के आदेश


NAZO ALI SHEIKH 22/12/2016 17:35

लखनऊ- आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर के घर 13 अक्टूबर 2015 को छापे केदौरान दो दर्जन से अधिक लोगों को बिना इजाजत घर में घुसने कोर्ट ने जांच

के आदेश जारी किए हैं। इसके अलावा अमिताभ की पत्नी नूतन ठाकुर को कोर्ट मे लगे मुकदमों में न आने के ममाले में भी कोर्ट ने गोमती नगर प्रभारी को जांच के आदेश दिए हैं। सुनवाई की अगली तारीख 24 जनवरी तय की गई है।

कोर्ट ने कहा है कि प्रार्थी और उनकी पत्नी के बयान और पत्रावली पर उपलब्ध पपत्रों के अनुसार परिवाद में दिए गए तथ्यों के सम्बन्ध में धारा 202(1) सीआरपीसी में जांच आवश्यक है। सीजेएम ने एसओ गोमतीनगर को अन्वेषणकर एक माह में अपनी रिपोर्ट कोर्ट में प्रस्तुत करने को कहा है।

अमिताभ ने अपने वाद में कहा था कि कोर्ट द्वारा मात्र विवेचक दद्दन चौबे को सर्च वारंट दिया गया था लेकिन विजिलेंस विभाग के कई सारे लोग जबरदस्तीउनके घर में घुस गए और घंटों बिना कानूनी इजाजत मौजूद रहे। उन्होंने कहाजिसका एकमात्र उद्देश्य उन्हें डराना और समाज में जलील करना था, जो धारा 341, 342, 447, 448, 451, 452 आईपीसी में अपराध है।

1222201650623AMविजिलेंस_अफसरों1



कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया