मुख्य समाचार
ATM से निकले चूरन वाले नोट शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में तेजी CM के. चंद्रशेखर ने सरकारी खर्च पर बालाजी मंदिर में चढ़ाए साढ़े 5 करोड़ के गहने एक महीने से सीवेज का पानी पिला रहा जलकल चीन ने दक्षिण चीन सागर में किया प्रयोगशाला का निर्माण चौथे दौर में 12 जिलों की 53 विधानसभा सीटों पर मतदान कल रिलायंस जियो (Jio) की पेशकश से नाराज वोडाफोन (Vodafone) ने कहा- रूल तोड़ा ब्रिटेन में जनगणनाः सिख और कश्मीरियों के लिए नई श्रेणी बनाने पर विचार फरक्का बांध को बंद करने की नीतीश कुमार की मांग पर सुशील मोदी ने उठाए सवाल मुख्यमंत्री- तिरुपति बालाजी को चढ़ाएंगे 5.45 करोड़ रुपये के गहने जयशंकर बीजिंग यात्रा पर, चीनी अधिकारी से की मुलाकात 1 करोड़ में मिल रहा है यह टूटा iPhone 4S आईपीएल: क्यों नही मिला इशांत और इरफान जैसे खिलाड़ियों को कोई खरीदार होर्डिंग लगा रहे युवक की करंट से मौत नगर निगम SMS से रोकेगा फर्जीवाड़ा 10 कलाकारों की कृतियों को 3 मार्च को मिलेगा सम्मान 7वां वेतन आयोग : इन विभागों के कर्मचारियों को देर से मिली खुशी, साथ में गम भी वृद्घ दंपति की गला रेत कर हत्या टेस्ट रिपोर्ट HIV पॉजिटिव निकली तो दंपति ने की खुदकुशी मुकेश अंबानी रिलायंस जियो को लेकर कर सकते हैं आज महत्वपूर्ण ऐलान ब्राजीलियाई पुलिस ने कहा, पूर्व राष्ट्रपतियों ने जांच में बाधा डाली IPL में भी कप्तानी नहीं करेंगे धोनी,अजहर बोले- यह घटिया फैसला है अफगानिस्तान ने 85 आतंकवादियों की लिस्ट की पाकिस्तान के हवाले फिल्म इत्तेफाक की शूटिंग शुरू श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स अपनी योग्यता साबित करें: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

22 Views

वर्ष 2017 का पहला बजट सत्र 31 जनवरी से


ANAMIKA PANDEY 03/01/2017 13:35

13201710128AMवर्ष_2017_के_लि1

नई दिल्ली । वर्ष 2017 के लिए बजट सत्र 31 जनवरी को शुरू होगा। एक फरवरी को आम बजट पेश किया जा सकता है।बजट सत्र का पहला हिस्सा 31 जनवरी से 9 फरवरी तक चल सकता है। साथ ही 31 जनवरी को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की ओर से इकोनॉमिक सर्वे पेश किए जाने की उम्मीद जताई है। वहीं 31 जनवरी को देश के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित कर सकते हैं।

आम बजट के साथ पेश होगा रेल बजट
करीब 92 साल बाद यह पहला मौका होगा जब रेल बजट अलग से पेश नहीं किया जाएगा। केंद्रीय कैबिनेट रेल बजट के आम बजट में विलय की मंजूरी दे चुका है। 

सरकार ने यह भी कहा है कि रेलवे की स्वायतता पहले की तरह बरकरार रहेगी। अब रेलवे के आय-व्यय का ब्योरा आम बजट 2017-18 का ही हिस्सा होगा। 

साथ ही फरवरी के अंतिम दिन बजट पेश करने की दशकों पुरानी परिपाटी भी बदल जाएगी। सरकार ने रेल बजट के विलय का फैसला नीति आयोग के सदस्य विवेक देबरॉय की अध्यक्षता वाली समिति की सिफारिश पर किया था।

रेल बजट से जुड़ी मुख्य बातें
रेल बजट का टीवी पर पहला सीधा प्रसारण 24 मार्च, 1994 को हुआ था।

पहला रेल बजट 1920-21 में दस सदस्यीय एडवर्थ समिति के सुझाव पर रेल बजट को आम बजट से अलग किया गया। पहली बार अलग रेल बजट 1924 में पेश किया गया था।

मौजूदा मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी साल 2000 में पहली महिला रेल मंत्री बनी थीं।

सबसे अधिक बार रेल बजट पेश करने का रिकॉर्ड जगजीवन राम के नाम है। 



कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया