मुख्य समाचार
ATM से निकले चूरन वाले नोट शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में तेजी CM के. चंद्रशेखर ने सरकारी खर्च पर बालाजी मंदिर में चढ़ाए साढ़े 5 करोड़ के गहने एक महीने से सीवेज का पानी पिला रहा जलकल चीन ने दक्षिण चीन सागर में किया प्रयोगशाला का निर्माण चौथे दौर में 12 जिलों की 53 विधानसभा सीटों पर मतदान कल रिलायंस जियो (Jio) की पेशकश से नाराज वोडाफोन (Vodafone) ने कहा- रूल तोड़ा ब्रिटेन में जनगणनाः सिख और कश्मीरियों के लिए नई श्रेणी बनाने पर विचार फरक्का बांध को बंद करने की नीतीश कुमार की मांग पर सुशील मोदी ने उठाए सवाल मुख्यमंत्री- तिरुपति बालाजी को चढ़ाएंगे 5.45 करोड़ रुपये के गहने जयशंकर बीजिंग यात्रा पर, चीनी अधिकारी से की मुलाकात 1 करोड़ में मिल रहा है यह टूटा iPhone 4S आईपीएल: क्यों नही मिला इशांत और इरफान जैसे खिलाड़ियों को कोई खरीदार होर्डिंग लगा रहे युवक की करंट से मौत नगर निगम SMS से रोकेगा फर्जीवाड़ा 10 कलाकारों की कृतियों को 3 मार्च को मिलेगा सम्मान 7वां वेतन आयोग : इन विभागों के कर्मचारियों को देर से मिली खुशी, साथ में गम भी वृद्घ दंपति की गला रेत कर हत्या टेस्ट रिपोर्ट HIV पॉजिटिव निकली तो दंपति ने की खुदकुशी मुकेश अंबानी रिलायंस जियो को लेकर कर सकते हैं आज महत्वपूर्ण ऐलान ब्राजीलियाई पुलिस ने कहा, पूर्व राष्ट्रपतियों ने जांच में बाधा डाली IPL में भी कप्तानी नहीं करेंगे धोनी,अजहर बोले- यह घटिया फैसला है अफगानिस्तान ने 85 आतंकवादियों की लिस्ट की पाकिस्तान के हवाले फिल्म इत्तेफाक की शूटिंग शुरू श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स अपनी योग्यता साबित करें: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

11 Views

इस्तांबुल शहर में हुए हमले की जिम्मेदारी आईएस ने ली, हमलावर की तलाश जारी


SANDEEP PANDEY 03/01/2017 10.25 AM

02-Jan-2017इस्तांबुल_शहर_म1

तुर्की के इस्तांबुल शहर में नववर्ष के मौके पर एक नाइट क्लब में हुए हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने  ली है। फिलहाल हमलावर अब तक फरार है और पुलिस उसकी तलाश में जुटी है। बतातें चले कि हमले में 39 लोग मारे गए थे। मरने वालों में अधिकतर गैर तुर्क और मुख्यत: अरब से हैं।

समाचार एजेंसी दोगान ने खबर दी है कि गोलीबारी के मामले में आठ संदिग्ध लोगों को आज हिरासत में लिया, लेकिन हमलावर से इनके संबंध होने का कोई संकेत नहीं मिला है।

सोशल मीडिया पर जिहादी समूह की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘खिलाफत के लड़ाकों’ में से एक ने रेइना नाइट क्लब पर हमला किया था। इसमें मुस्लिम बहुल तुर्की पर ईसाइयों का नौकर होने का आरोप लगाया गया। संभवत: ऐसा पड़ोसी देश सीरिया एवं इराक में आईएस के खिलाफ लड़ाई में अंतरराष्ट्रीय संगठन के साथ तुर्की के गठबंधन के संदर्भ में किया गया।

बयान में कहा गया कि युद्धग्रस्त सीरिया में आईएस के खिलाफ तुर्की के सैन्य दखल के जवाब में यह हमला था।

‘हुर्रियत’ दैनिक के अनुसार बंदूकधारी ने क्लब के आस पास गोलीबारी शुरू कर दी और घबराए लोग दहशत में जलडमरू मध्य..बोसफोरस के ठंडे पानी में छलांग लगाने लगे।



कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया