यूपी बोर्ड (U.P. Board) की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट (High school and intermediate) की परीक्षा परिणाम (Exam Results) शनिवार को घोषित कर दिये गए।
UP Board Result : हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के 51-51 टॉपर्स के लिए अखिलेश ने किया बड़ा ऐलान

Lucknow. यूपी बोर्ड (U.P. Board) की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट (High school and intermediate) की परीक्षा के परिणाम (Exam Results) शनिवार को घोषित कर दिये गए। जिनमें हाईस्कूल (High school) के 83.31% और इंटरमीडिएट (Intermediate) के 74.63% छात्र व छात्राओं ने परीक्षा में सफलता हासिल की है। वहीं, यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Former CM Akhilesh Yadav) ने इस साल  हाईस्कूल व इंटरमीडिएट में शीर्ष स्थान पाने वाले 51-51 छात्र-छात्राओं को लैपटॉप देने की घोषणा की है। इसके अलावा अखिलेश ने अपने संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ (Azamgarh) में 50 सफल छात्र-छात्राओं को भी लैपटॉप देने का ऐलान किया है। 

टॉपर्स की अखिलेश ने की सराहना

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (SP President Akhilesh Yadav) ने सभी पास हुए छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए उन्हें उज्जवल भविष्य (Bright future) के लिए शुभकमाएं दी। सपा अध्यक्ष ने कहा कि यूं तो सभी छात्र-छात्राओं ने परिश्रम से सफलता हासिल की है, लेकिन 10वीं की परीक्षा में टॉपर रिया जैन (Riya Jain) और 12वीं की परीक्षा के टॉपर अनुराग मलिक (Anurag Malik) विशेष सराहना के पात्र हैं।

बता दें कि इस साल बड़ौत की रिया जैन ने हाईस्कूल और बागपत के अनुराग मलिक ने इंटरमीडिएट में बाजी मारी है। हाईस्कूल में रिया जैन ने 600 में से 580 अंक यानी 96.67 परसेंट हासिल किए, जबकि इंटरमीडिएट में अनुराग मलिक ने 500 में से 485 अंक यानी 97 प्रतिशत अंक हासिल किया। 

सफलता में सपा की योजनाओं का बड़ा हाथ अखिलेश

अखिलेश ने आगे कहा कि उनकी पार्टी नौजवानों की प्रगति व सम्मान के लिए हमेशा कोशिश करती रही है। सपा सरकार में कन्या विद्याधन और लैपटॉप (Laptop) वितरण योजना से छात्र-छात्राओं के जीवन में आगे बढ़ने के रास्ते खुले थे। नौजवानों के सपनों को साकार करने में इन योजनाओं का बड़ा हाथ रहा है।

हाईस्कूल टॉपर रिया जैन और इंटरमीडिएट टॉपर अनुराग मलिक

कैसा रहा इस साल का रिजल्ट

यूपी बोर्ड के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का परिणाम (UP Board High School and Intermediate Results) पिछले साल की तुलना में बेहतर रहा है। इस बार हाईस्कूल की परीक्षा (High school exam) देने वालों में से 83.31 % पास हुए, जबकि पिछले साल दसवीं का रिजल्ट 80.07 प्रतिशत रहा था। वहीं, इंटरमीडिएट के 74.63 % छात्र व छात्रायें पास हुए है, पिछले साल यह प्रतिशत 70.06 रहा।