प्रधानमंत्री मोदी ने 'मन की बात' कार्यक्रम में चीन को खरीखोटी सुनाई है। पीएम मोदी ने चीन को चेतावनी भरे लहजे में कहा कि भारत अगर मित्रता निभाना जानता है तो वह दुश्मन की आंख में आंख डालकर पलटवार करना भी जानता है।
चीन पर पीएम मोदी का पलटवार, आंख उठाने वालों को दिया करारा जवाब

New Delhi.  प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Modi)  ने 'मन की बात' कार्यक्रम में चीन को खरीखोटी सुनाई है। पीएम मोदी (Prime Minister Modi)  ने चीन को चेतावनी देते हुए कहा कि भारत अगर मित्रता निभाना जानता है तो वह दुश्मन की आंख में आंख डालकर पलटवार करना भी जानता है। चीन भारत को किसी भी तरह से कमजोर समझने की गलती न करे। 

मन की बात कार्यक्रम में जनता को संबोधित करते हुए मोदी (Prime Minister Modi)  ने पाकिस्तान (Pakistan) की तरफ इशारा करके चीन को आड़े हाथ लिया है। मोदी ने आगे कहा कि हाल ही में दुनिया ने भारत की सीमाओं पर आंख दिखाने वालों की दुर्दशा को देखा है।  उन्होंने कहा कि लद्दाख (Ladakh) में भारत की भूमि पर आंख उठाकर देखने वालों को करारा जवाब मिला है। भारत जितना मित्रता निभाना जानता है उतना ही वह अपने दुश्मनों को करारा जवाब देना भी जानता है।

वहीं, प्रधानमंत्री (Prime Minister Modi) ने लद्दाख (Ladakh) की गलवां घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में शहीद हुए जवानों को याद किया। उन्होंने कहा कि लद्दाख में हमारे जो वीर जवान शहीद हुए हैं, उनके शौर्य को पूरा देश नमन कर रहा है, श्रद्धांजलि दे रहा है।

पीएम ने कहा कि पूरा देश उनका कृतज्ञ है, उनके सामने नत-मस्तक है। इन साथियों के परिवारों की तरह ही, हर भारतीय, इन्हें खोने का दर्द भी अनुभव कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत-माता की रक्षा के जिस संकल्प से हमारे जवानों ने बलिदान दिया है, उसी संकल्प को हमें भी जीवन का ध्येय बनाना है। 

पीएम मोदी (Prime Minister Modi) ने देश की सीमाओं की सुरक्षा की तरफ सभी का ध्यान देते हुए कहा कि हमेशा ऐसे प्रयास करने चाहिए कि देश की ताकत बढ़े, देश आत्मनिर्भर बने। हमारा उठाया हुआ कदम देश के शहीदों के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी। 

पीएम (Prime Minister Modi)  ने कहा कि जिन परिवारों ने सीमा पर लड़ते हुए अपने बेटों को खो दिया, वे अभी भी अपने अन्य बच्चों को रक्षा बलों में भेजना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे देशवासियों की भावना और बलिदान आदरणीय है।

बताते चलें कि लद्दाख की गलवान घाटी में हुई भारत और चीन के बीच हिंसक झड़प में भारत ने अपने 20 जवान खो दिए। इन जवानों में कर्नल रैंक के एक अधिकारी भी शामिल थे। इस झड़प में चीन के 40 जवानों के घायल होने की खबर है।